BCCI FULL FORM IN HINDI – BCCI का फुल फॉर्म क्या होता है ?

BCCI FULL FORM IN HINDI – BCCI का फुल फॉर्म क्या होता है ?

अगर आपको BCCI का फुल फॉर्म जानना है और BCCI के बारे में कोई जानकारी जाने तो इस पोस्ट में आपको BCCI का फुल फॉर्म उसके साथ साथ BCCI की अन्य शाखाएं और उनके बारे में बहुत अच्छी तरीके से जानकारी दी है.

 

full form of bcci

 
और आपको मालूम नहीं है BCCI क्या होता है तो वह भी मैंने आपको बताया है इस पोस्ट में तो आपको भी सिंचाई के बारे में संपूर्ण जानकारी एक ही पोस्ट में मिल जाएगी. 

BCCI FULL FORM IN HINDI

 BCCI का फुल फॉर्म भारतीय CRICKET कंट्रोल बोर्ड होता है जॉकी हमारे भारत देश मे CRICKET ही एक राष्ट्रीय संस्था है जो हमारे भारत देश में सभी CRICKET MATCHेस और भारतीय CRICKET संघ के INTERNATIONAL दौरे और अन्य कई प्रतियोगिता का आयोजन करती है .

BCCI की स्थापना दिसंबर 1928 में हुई थी BCCI एक तमिलनाडु सोसाइटी एक्ट के तहत पंजीकृत संस्था है.इस BCCI का मुख्य कार्य है कि भारत की CRICKET टीम को संपूर्ण रूप से नियंत्रित करना और इसके साथ साथ भारत के कई अन्य प्रतियोगिता का आयोजन करके उन्हें पूरा करना.

 

BCCI के चेयरमैन की अनुक्रम में LIST

 Growth gowen 1998 – 1993

 Sir Sikandar Hayat Khan 1993 – 1935

 Hamidullah Khan 1993 – 1937

 KS Digvijay Singh 1937 – 1938

 P subbarayan 1938 – 1946

 Anthony De Mello 1946 – 1951

 Jaisi Mukharji 1951 – 1954

 Maharajkumar Vijay Anand 1954 – 1956

 Sardar Gujarat Singh Majithia 1956 – 1958

 RK Patel 1958 – 1960

 Mrk Chi Dam bandaram 1962 1963

 Fateh Singh Rao Gaekwad 1963 – 1966

 Z R Irani 1966 – 1969

 A n Ghosh 1969 – 1972

 Pm Rungta 1972 21975

 Ram Prakash Mehra 1975 – 1977

 M Chinnaswamy 1977 – 1980

 Sk Wankhede 1980 – 1982

 N K P Salve 1982 – 1985

 Is Sri Raman 1985 – 1998

 BN Dutt 1988 – 1990

 Madhavrao Sindhiya 1990 – 1993

 IS Bindra 1993 – 1996

 Raj Singh Dungarpur 1996 – 1999

 AC muthaiya 1996 – 2001

 Jagmohan Dalmiya 2001 – 2004

 Ranveer Singh Mahindra 2004 – 2005

 Sharad Pawar and 2005 – 2008

 Shashank Manohar 2800 – 2018

 N Srinivasan 2018 – 2013

 Jagmohan Dalmiya 2013 – 2013

 Health Srinivasan 2013 – 2014

 Shiva Lal Yadav 2014 – 2014

 Sunil Gavaskar 2014 – 2014

 Jagmohan Dalmiya 2015 – 2015

 Shashank Manohar 2015 – 2016

 Anurag Thakur 2016 – 2017

 CK Khanna 2017 – 2019

 Sourav Ganguly 2019 से आज तक

BCCI का हेड क्वार्टर महाराष्ट्र राज्य में मुंबई में स्थित है और BCCI जी वर्तमान के चेयरमैन सौरव गांगुली जीके इनकी 9 अगस्त 2019 को औपचारिक रूप से BCCI के 39 वे अध्यक्ष के रूप में क्यों चुने गए थे.

सौरव गांगुली BCCI के 39 वे अध्यक्ष या नी चेयरमैन है सौरभ गांगुली BCCI के अध्यक्ष बनने से पहले BCCI के अध्यक्ष सीके खन्ना BCCI के अध्यक्ष थे जो 2017 से 2019 तक BCCI के अध्यक्ष पद पर थे. BCCI के सबसे पहले अध्यक्ष ग्रांट गोवन यह थे. BCCI FULL FORM IN ENGLISH

Board of Control for Cricket in India यह BCCI का इंग्लिश में फुल फॉर्म होता है. BCCI से कौन-कौन सी प्रतियोगिता का आयोजन करता है यह नीचे दिया है.

BCCI के द्वारा आयोजित प्रतियोगिताएं –

हर साल BCCI CRICKET की बहुत प्रकार की प्रतियोगिता का आयोजन करते हैं और इन प्रतियोगिता में INTERNATIONAL Players के साथ-साथ भारत की भी Players को प्रोत्साहन दिया जाता है उसके साथ साथ होने प्राइज मनी ट्रॉफी यह देखिए भारतीय Players का उत्साह और मनोबल बढ़ाती है.

BCCI के द्वारा आयोजित मुख्य प्रतियोगिता –

 BCCI कारपोरेट ट्रॉफी (BCCI CORPORATE TROPHY)

 इंडियन प्रीमियर लीग(INDIAN PRIMER LEAGUE)

 रणजी ट्रॉफी(RANJI TROPHY)

 दिलीप ट्रॉफी (DULEEP TROPHY)

 देवधर ट्रॉफी(DEODHAR TROPHY)

 विजय हजारे ट्रॉफी (VIJAY HAZAARE TROPHY)

 एनकेपी साल्वे चैलेंजर ट्रॉफी (NKP SALVE CHALLENGER TROPHY)

 सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी(SYED MUSHTAQ ALI TROPHY)

 ईरानी कप ( IRANI CUPCUP)

क्या BCCI के द्वारा आयोजित किए जाने वाली मुख्य प्रतियोगिताएं इन प्रतियोगिता में ज्यादा से ज्यादा भारतीय Players को मौका मिलता है.

BCCI यह एक दुनिया का सबसे ताकतवर CRICKET बोर्ड है इसके साथ-साथ बीसीए के पास दुनिया में सबसे ज्यादा Player है जो एक देश से खेलते हैं किसके साथ साथ बिजनेस है दुनिया का सबसे अमीर बोर्ड है.

BCCI को पैसे कहां से मिलते हैं?

अपनी अगर BCCI की प्रतियोगिता देखी होगी तो आपको पता ही होगा BCCI अपने प्रतियोगिता में कितना ज्यादा पैसे खर्च करता है पर BCCI के पास इतना सारा पैसा कहां से आता है आपके मन में यह सवाल जरूर आता होगा तो मैंने आपको BCCI के कुछ मुख्य पैसे कमाने के जरिए के बारे में आपको विस्तार में बताया है.

SPONSORSHIP & BRANDING – यह BCCI का सबसे मुख्य जरिया है पैसे कमाने का क्योंकि BCCI जो प्रतियोगिता आयोजित करते हैं.

उन प्रतियोगिता बहुत फेमस होती है और उन प्रतियोगिता को देखने के लिए बहुत सारे लोग आते हैं और इसके साथ-साथ इन प्रतियोगिता का टीवी पर लाइव प्रक्षेपण भी होता है.इसीलिए जो बड़ी-बड़ी कंपनियां होती है.

वह कंपनियां BCCI के साथ मिलकर उनको पैसे देकर जो BCCI के प्रतियोगिता होते हैं उन प्रतियोगिता का बीच में कंपनियों के बड़े-बड़े होर्डिंग उसके साथ-साथ बाउंड्री स्कोरबोर्ड स्क्रीन पब्लिक स्टैंड बालकनी एरिया स्टेडियम के बीच घास में जाहिरात यह सारे प्रकार के जाहिरात के पैसे कंपनी को देती है.

जो Player टी-शर्ट,बॅट,स्टांप,कैप और कपड़े पहनते हैं उन कपड़ों पर कंपनी का लोगो लगा कर यह कंपनियां अपनी एडवरटाइजिंग का एक मार्ग निकालती है इसी की वजह से कंपनियों की एडवरटाइजिंग अब बहुत अच्छी तरीके से होती है और BCCI को किन कंपनियों के द्वारा बहुत सारे पैसे भी मिलते हैं.

 इसके साथ-साथ जो IPL के ऑफिशल स्पॉन्सर होते हैं वह IPL को बहुत मात्रा में पैसे देते हैं जैसे कि सबसे पहले IPL का स्पॉन्सर था डीएलएफ और उसके बाद IPL का स्पॉन्सर पेप्सी था और उसके बाद IPL का कौन सा विवो बना फिर विवो के साथ कुछ कॉन्ट्रोवर्सी होने के बाद 1 साल dream11 यह IPL का टाइटल स्पॉन्सर था.

इसके बाद फिर से dream11 के पास अच्छा खासा पैसा ना होने की वजह से विवो फिर से एक बार IPL का टाइटल स्पॉन्सर बना.

जो टीम इंडिया है उस टीम इंडिया के शर्ट पर ओप्पो कंपनी के ब्रांडिंग के लिए ओकोने भारतीय संस्था BCCI को 5 साल के लिए 1080 करोड़ 5 साल के लिए दिए हैं.

MEDIA RIGHTS – जो आप टीवी पर IPL की लाइव MATCH देखते उस लाइव MATCH का भी पैसा BCCI को मिलता है BCCI लाइव MATCH के राइट टीवी चैनल को बेच देता है.

आपने टीवी पर सिर्फ स्टार पर अभी लाइव स्ट्रीम देखी हुई होगी क्योंकि स्टार कंपनी BCCI को 5 साल के लिए राइट्स खरीदे थे सारे स्टार ग्रुप में 16000 करोड रुपए से भी ज्यादा मैं और 16000 करोड रुपए में एक फिक्स पैसों का हिस्सा है.

जो BCCI को डायरेक्ट दिया जाएगा और जो बाकी का पैसा है वह स्टार कंपनी ले जाएगी और यह मात्रा बहुत बड़ी होती है अगर स्टार कंपनी को लॉस होता है तो वह BCCI को इतना ही पैसा देना पड़ता है जितना राइट्स खरीदते हुए देने का वादा हुआ था और अगर स्टार कंपनी को इससे बहुत ज्यादा फायदा होता है.

तभी भी उतना ही पेशाब इससे को देना पड़ेगा इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं BCCI के पास इतनी ज्यादा पैसों के साधन है इस वजह से ही BCCI दुनिया का सबसे बड़ा अमीर CRICKET का संस्था है. BCCI के अंतर्गत आने वाले CRICKET क्षेत्र –

BCCI के अंतर्गत भारत में पांच CRICKET क्षेत्र आते हैं वह मैंने आपको नीचे दिए गए हैं.

 पूर्वी क्षेत्र ( EAST ZONE)

 केंद्रीय क्षेत्र (CENTRAL ZONE)

 उत्तर क्षेत्र (NORTH ZONE)

 पश्चिम क्षेत्र (WEST ZONE)

 दक्षिण क्षेत्र (SOUTH ZONE)

BCCI की सबसे सफल प्रतियोगिता –

BCCI की सबसे सफल प्रतियोगिता आपको पता ही होगी यानी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) BCCI के द्वारा सबसे सफल प्रतियोगिता है इस प्रतियोगिता के जरिए BCCI को बहुत ज्यादा फायदा होता है.

और इसके साथ-साथ BCCI इस प्रतियोगिता में भारतीय Players के साथ-साथ INTERNATIONAL Players को भी खेलने का मौका देती है जिसकी वजह से INTERNATIONAL स्तर पर भी इस प्रतियोगिता की बहुत चर्चा है. 

IPL इतनी सफल प्रतियोगिता क्यों है?

इस प्रतियोगिता को खेलने के लिए INTERNATIONAL देशों के सभी मुख्य Player इस प्रतियोगिता का हिस्सा होने के लिए इच्छुक होते हैं क्योंकि इस प्रतियोगिता में अगर कोई INTERNATIONAL Player खेलता है.तो उसे इस प्रतियोगिता में खेलने के लिए पैसे भी ज्यादा मिलते हैं.

उसके साथ-साथ भारत में यह प्रतियोगिता बहुत ज्यादा मशहूर है इसकी वजह से उस Players का नाम भी बन जाता है इसी वजह से यह प्रतियोगिता BCCI की सबसे सफल प्रतियोगिता है और इस प्रतियोगिता में BCCI को बहुत ज्यादा पैसे मिलते हैं क्योंकि इस प्रतियोगिता में बहुत सारे MATCH खेले जाते हैं इस प्रतियोगिता में भारत के मुख्य शहरों के 8 टीम होते हैं.

और 8 टीम के 54 मैसेज यानी हर एक टीम के 14 MATCH होते हैं और यह सारे MATCH टीवी पर लाइव प्रक्षेपित किए जाते हैं इसकी वजह से इसकी भारतीय दर्शकों की संख्या बहुत मात्रा में है और इस IPL के वजह से BCCI ने एक ऐप को भी अपने लाइव स्ट्रीम करने के राइट्स दिए हैं.

वह ऐप है हॉटस्टार आपने हॉटस्टार का नाम IPL से पहले ही कभी सुना होगा नहीं तो हॉटस्टार IPL से पहले इतना ज्यादा मशहूर नहीं था जब से IPL आया है तब से हॉटस्टार पर ऑनलाइन लाइव स्ट्रीम होती है.

वह लाइवस्ट्रीम पहली 2 साल के लिए हॉटस्टार में मुफ्त की पर यह इस hotstar.app का एडवांटेज था क्योंकि इसके 2 साल बाद इसे अपने लाइव स्ट्रीम देखने के लिए इनकी प्रीमियम मेंबरशिप लेने की नियम बनाया इस नियम से हॉटस्टार को बहुत ज्यादा फायदा मिला और उसके साथ-साथ BCCI को बहुत ज्यादा फायदा हो गया इसी वजह से IPL BCCI के लिए सबसे सफल टूर्नामेंट साबित होती है. 

IPL की फुल फॉर्म क्या है?

IPL की फुल फॉर्म इंडियन प्रीमियर लीग है. यह भारत की सबसे बड़ी CRICKET की प्रतियोगिता है जिसमें भारत के सभी CRICKET खेलने वाले Players के साथ-साथ INTERNATIONAL Player भी शामिल होकर यह प्रतियोगिता खेलते हैं और यह भारत की सबसे लोकप्रिया प्रतियोगिता है. 

IPL की शुरुआत कैसे हुई?

2000 के शुरुआत से ही भारत में CRICKET की लोकप्रियता काफी तेजी से बढ़ रही थी लोगों में इस का जुनून परवान चढ़ रहा था प्रशंसकों का बड़ा हुजूम था इस खेल से लगभग देश का हर वर्ग जुड़ चुका था CRICKET Players में भारतीय CRICKET टीम में खेलने के लिए कई Player आते थे लेकिन भारतीय कई Player आते थे.

लेकिन इंडियन CRICKET टीम में चयन ना होने के बाद बाकी Players के लिए कोई बड़ा मंच उपलब्ध नहीं था अभी कुछ घरेलू टूर्नामेंट होते थे कुछ घरेलू टूर्नामेंट होते थे लेकिन इनसे बाकी Players को ना ही कोई विशेष पहचान मिल पाती और ना ही मन मुताबिक अच्छा पैसा इसकी वजह से काफी लंबे इंतजार के बाद CRICKET टीम में मौका ना मिलने से अच्छे-अच्छे प्रतिभावान Player धीरे-धीरे CRICKET से कटने लगते थे.

जो Player भारतीय टीम में शामिल होते थे वह काफी उम्दा होते थे लेकिन किसी Player के चोटिल होने के बाद किसी Player के चोटिल होने के बाद Players के प्लेसमेंट के बाद आती थी तो चयनकर्ताओं के सामने ज्यादा विकल्प मौजूद नहीं होते थे जिन टीम के प्रदर्शन में फर्क पड़ता था.

 

इसी वजह से 2008 में IPL की शुरुआत हुई IPL में 8 टीम खेलते हैं यह सारी भारत के प्रमुख शहरों की IPL की टीम होती है यह प्रमुख चेहरे की टीम लेने का मुख्य उद्देश्य होता कि भारत के सारे लोगों को यह प्रतियोगिता देखने में मजा आए .

इसलिए यह सारी टीम को शामिल किया गया और इसके साथ-साथ यह प्रतियोगिता और भी ज्यादा रोमांटिक बनाने के लिए इस प्रतियोगिता में INTERNATIONAL Players का भी शामिल किया गया.

इसके साथ साथ इस प्रतियोगिता का प्राइस भी बहुत ज्यादा रखा गया इसकी वजह से और भी ज्यादा लोग इसके साथ जुड़ने लगे और यह प्रतियोगिता भारत की सबसे CRICKET की प्रतियोगिताएं और इसमें बहुत सारे भविष्य में भारत के टीम के लिए खेलने वाले Player खेलते हैं.

 इसके साथ-साथ जो Players के पास अच्छे गुण हैं वह अपना प्रदर्शन IPL में करके भारत की टीम में अपनी जगह आसानी से बना सकते हैं यह भारत के युवा CRICKET Players के लिए बहुत बड़ा मंच है.

ICC का फुल फॉर्म क्या है IN हिंदी?

आईसीसी का फुल फॉर्म इन इंटरनेशनल CRICKET काउंसिल यह है यह संस्था की स्थापना 15 जून 1909 को लंदन में लॉर्ड्स के मैदान में हुए इसकी जब शुरुआत हुई तब इस संस्था में सिर्फ तीन देश थे इंग्लैंड साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया इसके बाद 1926 में हमारा भारत देश किस आईसीसी का हिस्सा बना. ICC की स्थापना कैसे हुई?

भारत देश के साथ साथ वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड किसके साथ आईसीसी में टोटल 6 कंट्री हो चुकी थी शुरुआत में इस आईसीसी का नाम इंपीरियल CRICKET काउंसिल था बाद में इसका नाम बदलकर इंटरनेशनल CRICKET काउंसिल किया गया इसके बाद 1947 में पाकिस्तान एक स्वतंत्र राष्ट्र बनने के बाद यह भी आईसीसी का एक हिस्सा बना .

इसके बाद आईसीसी में और भी चेंज होने 1965 में यह रूल था कि सारी देश कॉमनवेल्थ होने चाहिए यह आईसीसी का यह रोल बाद में हटाया गया जिसके बाद बाकी की भी कंट्री इस आईसीसी में आज सकती थी इसके बाद श्रीलंका भी आईसीसी को जुड़ गया.

इसके बाद आईसीसी में चार और कंट्री आज उड़ी बांग्लादेश आयरलैंड जिंबाब्वे और अफगानिस्तान या टोटल 12 देश आईसीसी में आशिकी दे किसी के साथ साथ यह आईसीसी के 12 परमानेंट मेंबर बन चुके थे तो इस तरीके से आईसीसी की स्थापना हुई थी. 

ODI का फुल फॉर्म क्या है?

ओ डी आई का फुल फॉर्म वन डे इंटरनेशनल होता है. इसका मतलब होता है 50 ओवर का MATCH जो 1 दिन के अंदर खेला जाएगा यह एक CRICKET का प्रकार है. 

ODI और टेस्ट CRICKET में क्या फर्क होता है?

ODI में कलरफुल कपड़े पहनकर MATCH खेले जाते हैं पर वहीं पर टेस्ट MATCH में सफेद कपड़े पहनकर MATCH खेले जाते हैं क्योंकि ODI यह MATCH सिर्फ 1 दिन का होता है.

और कम समय में MATCH पूरा हो जाता है पर टेस्ट MATCH पूरे दिन चलता है और यह MATCH एक-दो दिन चलता है इसी वजह से सभी Players को धूप में दिन भर रहना पड़ता है और सफेद कपड़े पहनने से धूप ज्यादा Players को परेशान नहीं करती इसीलिए टेस्ट में सफेद कपड़े पहने जाते हैं.

टेस्ट CRICKET मे अनलिमिटेड बोल होते है उसकी कोई लिमिट नही होती है और ओडीआय मे सिर्फ पचास हो होते है यांनी लिमिटेड बोल ही होते है और जो टेस्ट CRICKET मे गेंद का इस्तेमाल किया जाता है.

वहा गेंद लाल कलर की होती है क्यू की टेस्ट CRICKET खेलते वक्त धूप ज्यादा होने के कारण खिलाडियो को सफेद बोल पेहचाने मे मुश्किल होती है इसीलिए लाल रंग खिलाडी आसानी से दिख जाता है इस्की वजेसे जब बॅटिंग करते है.

तब टेस्ट CRICKET मे लाल गेंद बेहतर फायदा देती है.टेस्ट CRICKET मे हर टीम दुबार बॅटिंग कर सकते है पर ओडीआय CRICKET मे एक टीम सिर्फ एक बार ही बेटिंग कर सकती है और बॉलिंग भी.

टेस्ट CRICKET मे जो ग्राउंड का इस्तेमाल होता है वहा ग्राउंड तीन चार दिन खेलने के लिए बनाया जाता है ग्राउंड के तरीके से बनाया जाता है कि व जादा दिन तक बना रहे और ODI का ग्राउंड सिर्फ 1 दिन के लिए बनाया जाता है यानी उसको सिर्फ 1 दिन के लिए बना रहना है.

टेस्ट MATCH खेला जाता है डिफेंसिव और टेक्निक से क्योंकि अगर टेस्ट MATCH में अगर आप एग्रेसिव खेलने लगे तो आपके पास हारने के ज्यादा चांस होगे और ओ डी आई MATCH एग्रेसिव खेले जाते हैं क्योंकि इस MATCH में कम से कम बॉल में ज्यादा से ज्यादा रन बनाने पड़ते हैं तभी आप जीत सकते हो.

CONCLUSION

आशा करता हू की आर्टिकल आपको बहुत जादा पसंद आया होगा क्युकी मैने आपको जीत नही है उसकी जानकारी देने का प्रयत्न किया है इस आर्टिकल मी आपको BCCI के बारे मे बहुत सारी जानकारी उसके साथ साथ BCCI का इतिहास BCCI का फुल फॉर्म सारा बताया आपको अगर अच्छा लगा है तो आप कमेंट बॉक्स मे कमेंट कर सकते है की जानकारी आपको कैसे लगे.

 

Leave a Comment