CBI FULL FROM IN HINDI – CBI का फुल फॉर्म क्या है?

CBI FULL FROM IN HINDI

सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CENTRAL BUREAU OF INVESTIGATION) यह CBI का फुल फॉर्म है यह एक एक भारतीय बहुराष्ट्रीय, सार्वजनिक क्षेत्र की बैंकिंग और वित्तीय सेवा सांविधिक निकाय है. जिसके बारे में सभी जानकारी मैंने आपको नीचे दिए हैं इस संस्था के कितने DEPARTMENT होते हैं और इस संस्था के बारे में और भी आने जानकारी नीचे दी गई है


CBI की स्थापना कब हुई थी? 

CBI की स्थापना ऑन सन 1963 1 अप्रैल में हुई थी.CBI के सबसे पहले अधिकारी यानी मुख्य अधिकारी डीपी कोहली यह थे और आज 2021 में रंजीत सिन्हा यह CBI के प्रमुख है.

 इस संस्था को स्थापन करने का मुख्य मकसद यह था कि जो भारत की आम जनता है उसके मन में यह ख्याल रहता है कि जो CENTRAL में सत्ताधारी दल के जो मंत्री यह किसी और नेता पर लगे आरोप निष्पाप रूप ठीक से होती है.

या नहीं इसके लिए इस एजेंसी यानी CENTRALीय अन्वेषण ब्यूरो यानी CBI की स्थापना की गई CBI पर आम जनता का बहुत ज्यादा विश्वास होता है क्योंकि CBI एक निष्पक्ष गवर्नमेंट की एजेंसी है.

जिस पर कोई पॉलिटिकल पार्टी का हाथ नहीं होता मतलब कोई पार्टी इस संगठन को कंट्रोल नहीं कर सकती इससे यह संस्था भ्रष्टाचार को बहुत अच्छी तरीके से पकड़ सकती है जो मंत्री है उन मंत्रियों पर जो आरोप लगे हैं उन आरोपों को फिर जांच कर सकती है.

CBI का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है और CBI का दे यह वाक्य है इंडस्ट्री इनफर्टिलिटी इंटीग्रिटी  गवर्नमेंट ऑफ इंडिया यानी कठिन परिश्रम निष्पक्षता एकाग्रता यह इसका दे वाक्य हिंदी में होता है इसको इंग्लिश में मोटो बोलते हैं.

 

cbi logo

CBI OFFICER कैसे बने?

अगर आपको CBI में कैरियर करना है क्योंकि CBI में बहुत अच्छी सैलरी और इसके साथ-साथ बहुत सारे सिगरेट सर्च ऑपरेशन होते हैं तो आप को CBI के OFFICER बनने के लिए आपको CBI भारत सरकार

अगर आपने 12वीं पास की है और साथ में आपने ग्रेजुएशन बात किया है तो आप CBI OFFICER बन सकते हैं इसके लिए आपको एक एग्जाम देनी पड़ती है वह एग्जाम आपकी 12वीं क्लास के अभ्यास पर होगी 12वीं कक्षा में पढ़ा है.

उसी पर आपका क्वेश्चन पेपर आएगा यह क्वेश्चन बहुत आसान होते हैं क्योंकि यह परीक्षा सिर्फ आपकी इंटरनल क्वालिफिकेशन चेक करने के लिए लिए जाती है इस परीक्षा में बैठने के लिए ग्रेजुएशन पास होना पड़ता है .एसएससी स्टाफ सिलेक्शन कलेक्शन एग्जाम यह परीक्षा आपको CBI के लिए पास करनी होती है और उसके साथ साथ और आपके ग्रेजुएशन के 50 से ज्यादा मार्क होनी चाहिए तभी आप CBI के लिए जा सकते हैं.

CBI के लिए उम्र की क्या लिमिट होती है? 

CBI के लिए जिस साल में उम्मीदवार CBI की परीक्षा देता है उस वक्त उस उम्मीदवार की उम्र जनवरी के महीने मैं 20 से 27 होनी चाहिए अगर आपको कोई आरक्षण है तो आपके लिए थोड़ी सी छूट दी जाती है आप आरक्षण के जरिए 20 से 32 साल तक CBI के लिए अप्लाई कर सकते हैं यह बहुत बड़ी छूट होती है

CBI CBI OFFICER के लिए क्या फिजिकल होता है? 

CBI OFFICER बनने के लिए आपको एक फिजिकल टेस्ट देनी पड़ती है उसके दो पार्ट होते हैं पहला पाठ होता है आपको हाइट और चेस्ट का टेस्ट होता है जिसमें आपकी हाइट 157पॉइंट 1 सेंटीमीटर और चेस्ट 81 सेंटीमीटर होनी चाहिए तभी आप फिजिकल फिटनेस पास कर सकते हैं.

और इसके बाद फिजिकल फिटनेस का दूसरा पार्ट में आपको चलने की और साइकलिंग टेक्स्ट देना पड़ता है जिसमें आपको मेल्को वन हंड्रेड मीटर मतलब 16000 मीटर चलना पड़ता है 15 मिनट में और आपको 30 मिनट में 8 किलोमीटर साइकलिंग करना पड़ता है यह CBI के लिए फिजिकल फिटनेस की आवश्यकता होती है तभी आप फिजिकल एक्जाम पास कर सकते हैं.

CBI का क्या कार्य होता है? 

CBI के अंडर में तीन विभाग आते हैं यह तीन विभाग अलग-अलग काम करते हैं यह सारे विभागों की जानकारी आपको नीचे दिए गए हैं.

एंटी करप्शन DEPARTMENT –

 जो भारत की CENTRAL सरकार है CENTRAL सरकार के सभी विभागों में CENTRAL संस्थानों और सार्वजनिक उपक्रम और CENTRAL सरकार के जो भी कार्यक्रम होते हैं उन सभी कार्यक्रमों में जो व्यवहार होता है उस व्यवहार में कोई भ्रष्टाचार हो रहा है.

या नहीं या किसी तरह की धोखाधड़ी हो रही है या नहीं यह सारा काम इस CBI के एंटी करप्शन DEPARTMENT के पास होता है यह DEPARTMENT भ्रष्टाचार को रोकने के लिए बनाया गया है.

और यह DEPARTMENT के वजह से भारत में बहुत ज्यादा भ्रष्टाचार को रोक लगी है क्योंकि यह CBI का DEPARTMENT बहुत ज्यादा एक्टिव है और इसके जो कर्मचारी है वह निष्पक्ष जांच करते हैं.

इकोनॉमिक क्राइम DEPARTMENT – 

इकोनॉमिक क्राइम डिवीजन यह Central अन्वेषण ब्यूरो यानी CBI का एक मुख्य विभाग है इस DEPARTMENT में इकोनॉमिक क्राइम की बारे में जांच होती है.

स्पेशल क्राइम DEPARTMENT – 

CBI का स्पेशल क्राइम DEPARTMENT में CBI आमतौर पर आतंकवादी बम विस्फोट और सनसनीखेज किस देश से फिरौती अंडरवर्ल्ड माफिया इन जैसे खतरनाक गुणों से निपटने के लिए यह DEPARTMENT की स्थापना की है.

इस DEPARTMENT में सभी जो अंडरवर्ल्ड माफिया होते हैं उनको पकड़ में लाना और उनको जेल में डालना इस DEPARTMENT का काम होता है और उसके साथ साथ जो भी हत्या कांड होते हैं जो बहुत मिस्ट्री यस है वह CBI के इस DEPARTMENT को दिए जाते हैं क्योंकि यह DEPARTMENT स्पेशल उसी काम के लिए बनाया है.

एफबीआई का फुल फॉर्म क्या होता है? 

एसबीआई का फुल फॉर्म फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन यह होता है या एक अमेरिकी संग है जो भारत के CBI की तरह काम करता है मतलब आप उसे अमेरिकी की CBI भी बोल सकते हैं.

CBI एक अमेरिकी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन एसबीआई से शाम में एक संस्था है या अमेरिका की एजेंसी एजेंसी अमेरिका में अपराध और अन्य गुणों की जांच करती है.

और इसके अलावा यह खुफिया जानकारी भी रखती है जो इन अंडरवर्ल्ड माफिया होते हैं उनकी ऐसी हमारी CBI काम करती है CBI की ताकत और शक्ति का दायरा एसीपी एक्ट के तहत एक हद तक सीमित है.

यह जो अपराधी बहुत शातिर होते हैं या नहीं उनको पकड़ पाना पुलिस से होता नहीं उन अपराधियों को CBI जांच करके पकड़ती है और ऐसे ही एसबीआई के पास 200 से भी ज्यादा अपराध की जांच करने का अधिकार है.

एसबीआई का 1908 में ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन से शुरुआत हुई थी मतलब इस नाम से इस संस्था की स्थापना हुई थी फिर 1935 में इस संस्था का नाम किसी कारण से एसबीआई यह कर दिया था इस संस्था का फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन का मुख्य ऑफिस अमेरिका में वॉशिंगटन डीसी में स्थित है.

इसका भी मकसद हमारे CBI जैसे ही भ्रष्टाचार संगठित अपराध सफेदपोश अपराध हिंसक गतिविधियों की इत्यादि होता है और इसके अंदर कोई भी DEPARTMENT नहीं होता जैसा हमारी CBI के तीन DEPARTMENT होते हैं.

इस एसबीआई में सारे काम एक ही DEPARTMENT करता है किसी DEPARTMENT में ही हिंसक हमले साइबर अटैक इन जेसी सुरक्षा यह संघटना अमेरिका को दे दी है इसके अलावा संघीय कानूनों के जरिए विशेष अपराधियों की जांच करने की ताकत एसबीआई में है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.