GRE Full Form In hindi -GRE का फुल फॉर्म क्या होता है?

GRE Full Form In hindi

अगर आपको जी आदि के बारे में जानकारी जाननी है और GRE का फुल फॉर्म क्या होता है तो आपको इस पोस्ट में आपको सभी जानकारी मिलेगी जिसे GRE का मतलब क्या होता है जी आ रही क्या होता है तो आपकी इस पोस्ट को जरुर पढ़े.

full form of GRE 

GRE का फुल फॉर्म GRADUATE RECORD

EXAMINATION यह होता है इसका मतलब होता है एक ग्रेजुएशन के बाद लेने जाने वाली EXAM  यह EXAM  ज्यादातर मेरी एक को के कॉलेज में होती है क्योंकि AMERICA में कोई STUDENT अगर एक ग्रेजुएशन पूरा करता है .

तो उसे ग्रेजुएशन रिकॉर्ड एग्जामिनेशन यानी जी EXAM  को देना पड़ता है. क्या EXAM  AMERICA के STUDENT के हिसाब से बहुत जरूरी होती है क्योंकि इसी EXAM  के जरिए उन ग्रेजुएट छात्रों को प्रवेश मिलता है.

 

GRE FULL FORM

also read- Procedure to apply for 12th Maharashtra Board exam as a Private candidate?

GRE होता है? 

GRE एजुकेशनल टेस्टिंग सर्विस की EXAM  होती है जिसमें AMERICA की छात्रों को विशेष आत्मक लेखन मौखिक EXAM  मात्रात्मक EXAM  और जो छात्रों ने जिस फील्ड में ग्रेजुएशन किया है.

उस फील्ड के कुछ कौशल्या मापक EXAM  यह सारा इस EXAM  के अंदर होता है और यह सारी EXAM  संगणक के जरिए होती है यह ऐसी EXAM  AMERICA में होती है पर बाकी सारे जो राष्ट्र गरीब है उन देशों में अभी भी यह EXAM  ऑफलाइन होती है यानी बिना कंप्यूटर के होते हैं.

GRE EXAM ELIGIBILITY 

GRE की EXAM  देने के लिए किसी भी छात्र को मान्यता प्राप्त कॉलेज से ग्रेजुएट होना चाहिए और वह छात्र उस कॉलेज से ग्रेजुएट है.

उस कॉलेज का सिगरेट भी अच्छा होना चाहिए और छात्रों को ग्रेजुएशन करने के बाद अच्छे अंक भी चाहिए होते हैं तभी आप इस GRE एग्जाम के लिए एलिजिबल हो सकते हैं

GRE EXAM SYLLABUS

यह GRE एग्जाम दो हिस्सों में होती है जिनमें छात्रों को 2 तरीकों से इस EXAM  को देना पड़ता है इस EXAM  का पहला पढ़ा होता है लिखित EXAM  लिखित यानी छात्रों को लिखित स्वरूप में यह EXAM  देनी पड़ती है.

यह इस एग्जाम का पहला भाग होता है और इसके बाद इस एग्जाम का दूसरा पड़ाव या नहीं ऑनलाइन एग्जाम जो छात्रों को कंप्यूटर के जरिए देनी पड़ती है.

और अगर किसी छात्र के पास कंप्यूटर नहीं होता है तो वह लिखित EXAM  के लिए अप्लाई कर सकता है इसके बाद उसे लिखित EXAM  देनी पड़ती है इस एग्जाम का समय आपको 3 या 4 घंटे क्या होता है.

यह समय उस छात्र के ग्रेजुएशन के हिसाब से होता है और इसमें आपको 15 मिनट की ब्रेक दिया जाता है जिस ब्रेक में आपको पहले पड़ाव से दूसरे पड़ाव जाना पड़ता है.

मतलब आप अगर आप ऑफलाइन लिखित एग्जाम दे रहे हैं तो आपको उस 15 मिनट के समय में कंप्यूटर की एग्जाम के लिए जाना पड़ता है.

यह EXAM  आप अगर एक बार देते तो आपको इस EXAM  की मान्यता पर 5 साल तक कहीं पर भी प्रवेश मिल सकता है और अगर आपकी EXAM  देने के बाद 5 साल बाद अगर आप किसी जगह अप्लाई करते तो आपको इस EXAM  को फिर से लेना पड़ेगा क्योंकि यह EXAM  5 साल के बाद INVALID हो जाती है.

HOW TO APPLY GRE EXAM?

अगर आपको GRE EXAM  देना है तो आपको सबसे पहले आपको अपनी देश की कितनी फीस लगती है उसकी GRE एग्जाम के लिए वह देखना है.

पीजीआई एग्जाम की फीस आमतौर पर 200$ टू 230$ तक रहती है यह कीमत आपकी कंट्री के हिसाब से लेट होती है अगर आप अपना किसी कारण से GREपी एग्जाम का केंद्र बदलना है.

तो आपको इसके लिए $50 और भी ज्यादा देने पड़ेंगे तभी आपका केंद्र बदलता है इस एग्जाम के लिए आप कौन से विदेश में हो फिर भी जा सकते हैं.

GRE EXAM PATTERN 

GREपी यह EXAM  आमतौर पर तीन भागों में होती है और प्रत्येक एक भाग में 2 सेमेस्टर होते हैं और यह 2semester तीन भागों की मिलाकर कुल मिलाकर 6 सेमिस्टर तक इस GREपी की EXAM  में आपको देने पड़ते है.

  1. मौखिक तर्क

  2. विश्लेषणात्मक लेखन

  3. मात्रात्मक तर्क

  • मौखिक तर्क-

GREपी इस EXAM  का मौखिक तर्क बहुत महत्वपूर्ण भाग है इस भाग के अंदर छात्रों को एक एग्जाम देनी पड़ती है जिस एग्जाम के जरिए छात्र ने इतनी ज्यादा पढ़ाई की है.

और उसके अंदर कितनी ज्यादा पढ़ाई की क्षमता है यह मालूम पड़ता है और इसके साथ-साथ वह अंग्रेजी कैसे बोल पाता है इसकी इवनिंग लैंग्वेज और उसमें कितना ज्यादा कॉन्फिडेंस है यह भी इस EXAM  से पता लगता है.

  • विश्लेषणात्मक लेखन-

GRE के EXAM  में जो विश्लेषणात्मक लेखन का भाग होता है उस भाग में छात्र का देखने का नजरिया कैसा होता है उसके बाद उसको कोई प्रेडिक्शन करने की ताकत है.

या नहीं है और इसके साथ-साथ उसकी अंडरस्टैंडिंग पावर कितनी है मतलब वह किसी आदमी को कितना ज्यादा हद तक समझ सकता है इसके आधारित लिखित स्वरूप में यह EXAM  होती है और इस EXAM  के बाद आपके बारे में बहुत ज्यादा जानकारी रिजल्ट में आती है.

मात्रात्मक तक इस EXAM  में आपको पेपर में जो गणित का सब्जेक्ट होता है उस गणित के शब्द के अनुसार आपने जो डिग्री लेते वक्त अभ्यास किया है.

 उस अभ्यास से रिलेटेड प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे कि ज्योमेट्री अलजेब्रा और कैलकुलेशन और टेली इंग्लिश के प्रश्नों को आपको सॉल्व करना पड़ता है और यह EXAM  आपको कितना गणित का ज्ञान है पता लगाती है.

दोस्तों आशा करता हूं कि आप को इस पोस्ट में GREपी का फुल फॉर्म और इसके साथ-साथ GREपी के बारे में अन्य कई जानकारी मिली होगी कि जैसे कि आप GREपी की EXAM  कैसे दे सकते हैं और इसका सिलेबस क्या होता है और इसके साथ-साथ इसके सेंटर कहां पर होते हैं यह पता चला होगा.

अगर आपको ऐसे ही जानकारी से भरे पोस्ट पढ़ नहीं तो आप हमारे वेबसाइट के और भी ज्यादा पोस्ट पढ़ सकते हैं उन सभी पोस्ट में मैंने आपको किसी एक सब्जेक्ट का फुल फॉर्म बता क्या उसके बारे में सभी जानकारी दिए गए और यह जानकारी आपको बहुत पसंद आएगी आप नीचे पड़ सकते हैं.

Leave a Comment