J. P. FULL FORM | जिला पंचायत का फुल फॉर्म

 जिला पंचायत का फुल फॉर्म 

तो दोस्तों आज हम तुमको जिला पंचायत का फुल फॉर्म बताने वाले हैं और आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो आपको हमारी पोस्ट पूरी पढ़ नहीं होगी. 

 


 

जिला पंचायत क्या फुल फॉर्म होता है?


त्रासदायक पंचायत ववस्था जिला स्तर पर पंचायत के गठन का प्रयोग किया गया है राज्य के प्रत्येक जिला मैं जिला पंचायत दूसरे क्षेत्र पंचायत होते हैं या ब्लॉक पंचायत और 1 ग्राम पंचायत होती है लेकिन हमें जानना है जिला पंचायत क्या होता है जिला पंचायत इसी व्यवस्था के लिए जिला पंचायत में जिला पंचायत का नाम उस जिले के नाम से रखा जाता है.


जिला पंचायत पूरे जिले से आने वाली समस्याओं को और आवश्यकता को समीक्षा करती है और प्राथमिक आधार पर जिला योजना तैयार करते हैं.

और जिला योजना में शुक्रिया कार्य जिला योजना में ग्रैनी किया जाता है जिला पंचायत को जिला परिषद नाम से जाना जाता है जिला पंचायत का पृथ्वी और अध्यक्ष पंचायत द्वारा किया जाता है जिला पंचायत के प्रशासन संचालित करने के लिए  जिला परिषद अध्यक्ष जिला पंचायत अध्यक्ष नियुक्ति की जातीय है.


तो अब आप सोच रहे होंगे कि जिला पंचायत अध्यक्ष की नियुक्ति कैसे की जाती है या जिला पंचायत का गठन कैसे किया जाता है जिला पंचायत अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए पंचायत का किया जाता है इस जिला पंचायत चुनाव में जिला पंचायत में ऐसी छोटी-छोटी क्षेत्रों में बांट दिया जाता है.


विभाजित किया जाता है जिसमें लोगों की संख्या लगभग 5000 हजार होती है इसे जिला पंचायत सदस्सो के नाम और ग्राम सभा के सदस्यों के द्वारा परतायचे निर्वाचन द्वारा किया जाता है जिला पंचायत में सदस्यों में से किसी एक को अध्यक्ष और किसी एक को उपाध्यक्ष नियुक्ति करते हैं.


इसी प्रकार जिला पंचायत अध्यक्ष के नियुक्ति हो जाती है तो अब हम जिला पंचायत सदस्य को कितना पैसा मिलता है तो राज्य सरकार के हिसाब से जिला पंचायत अध्यक्ष को 14000 हजार उससे अधिक मानोदय प्राप्त होता है जिला पंचायत अध्यक्षों को 25 सो रुपए मानोदय प्राप्त होते हैं इसके अलावा उन्हें बहुत भाग्य में मिलते हैं इसके अलावा जिला पंचायत सदस्यों को हर बैठक में शामिल होने ₹1000 हजार रुपए उसके अधिक की धनराशि मिलते हैं.

BDS का फुल फॉर्म


बीडीसी का फुल फॉर्म Block development council होता है इसके अलावा block development committee कहा जाता है और बीडीसी को हिंदी में क्षेत्र पंचायत सदस्य कहा जाता है और इसका शॉर्ट फॉर्म बीडीसी और किस जगह प्रखंड विकास समिति कहा जाता है.

बी डी सी के कार्य: तो बीडीसी को ग्राम पंचायत में कहीं कार्य सौंपा जाता है जैसे कि नागरी निर्माण करने का खड़ंजा लगवाना और अन्य का बी डी सी के द्वारा यानी उनके निगरानी द्वारा किया जाता है क्या यू करण ग्राम प्रधान और बीडीसी मिलकर ग्राम पंचायत विकास के कार्य करते हैं.


बी डी सी के सदस्य को कितना पैसा मिलता है?


बीडीसी सदस्यों को माननीय निवेदन नहीं मिलता है लेकिन सरकार के द्वारा बीडीसी को हर महीने 15000 से अधिक महीने भत्ता मिलता है.


और दूसरा समझने के लिए आपको जोकि बी डी सी में जो भी परित्याग होता है वह आगे चलकर ब्लाक प्रमुख चुने केली ऐ ओट डालते है यानी की सभी बी डी सी मिळकर ब्लाक प्रमुख चुनाव करते हैं और ब्लाक प्रमुख बी डी सी का प्रमुख होता है.


वही ब्लाक प्रमुख का पद एक पद है और यहां पद इस पद भोवती महाशय पुर्ण है इस पद पर रहने के लिए अपनी क्षेत्र का विकास करताय है कम से कम दो-तीन ग्राम पंचायत को मिलाकर एक विकासखंड का गठन होता है गांव में सड़क बिजली नाली कसा फिरुन जल और स्वत आल आवशकता उनको विकासखंड कि दौरा पूरा किया जाता है ब्लाक प्रमुख और ब्लाक पखंडका अध्यश होता है.


Leave a Comment