OCP की फुल फॉर्म क्या है? | FULL FORM OF OCP IN HINDI | OCP क्या है?

 OCP की फुल फॉर्म क्या है?

OCP का फुल फॉर्म Operation Control Procedure यह होता है. OCP मेंटेनेंस के लिए होता है हर एक company में अपने अपने ऑपरेशन कंट्रोल प्रोड्यूसर (ocp) होती है. जो सारे company के मेंटेनेंस को ऑपरेट करती है. 

OCP FULLFORM HINDI


OCP कैसे काम करता है? 

OCP में सबसे पहले किसी भी Machine का मेंटेनेंस करने से पहले उस Machine की मेन सप्लाई को ऑफ कर दें और सप्लाई और न करने का बोर्ड लगा दे यह OCP में काम होता है. 

Machine का मेंटेनेंस होने के बाद Machine के जो spare पार्ट होते हैं वह spare पार्ट कचरा पेटी में डालना. क्योंकि अगर मेंटेनेंस करने के बाद अगर spare पार्ट्स अगर आप कचरा पेटी में नहीं डालती है तो वह spare पार्ट किसी भी Worker के पैर में लग सकते हैं या कई Machine में आकर Machine खराब होने की भी संभावना है यह काम भी OCP में बहुत  महत्वपूर्ण है. 

Machine में लुब्रिकेशन यानी gress को करते हुए यह gress के फर्श पर ना गिरे किसका ध्यान रखा जाता है. क्योंकि अगर gress के फर्श पर गिर जाता है तो फर्श पर Worker की फिसलना की संभावना बहुत ज्यादा होती है और ऐसी इलेक्ट्रिक company में Worker फिसलने लगे तो उनको बहुत बड़ी हानि हो सकती है इसीलिए OCP में यह काम बहुत महत्वपूर्ण है. 

अगर किसी बड़ी Machine में pipes है और कोई उन pipes में hydrolic प्रेशर है तो सबसे पहले उन hydrolic प्रेशर को पूरा निकालना होगा और hydrolic प्रेशर के अंदर बहुत सारा ऑल होता है वह Oil फर्श पर गिरना नहीं चाहिए क्योंकि वह Oil बहुत चिपचिपा होता है. 

Machine में अगर कोई वायर डैमेज है उससे अगर शॉक लगने की संभावना है या वह बहुत ज्यादा हिट होती है तो आपको उस वायर को बदलना है या कहा पर अगर वायर का इंसुलेशन कट गया है तो आपको इंसुलेट कर लेना है. 

ALSO READ – JAHIRAT LEKHAN IN MARATHI

OCP के दौरान हमें क्या SAFETY रखनी चाहिए? 

अगर आप OCP करते हैं तो सबसे पहले आपको OCP करने के दौरान सुरक्षा उपकरणों का प्रयोग जरूर करना है क्योंकि उसे पी के दौरान बहुत सारे गंभीर चोटें और हादसे होने की संभावना ज्यादा होती है. 

अगर कोई वायर का कवर यानी इंसुलेशन हटा हुआ है और वह वायर ओपन है तो आपको उस वायर को हाथ नहीं लगाना चाहिए क्योंकि उस वायर से इलेक्ट्रिक करंट लग सकता है और इसके साथ-साथ जिन वायर को Oil या ग्रीस लगाया है उन वायर का भी इस्तेमाल ना करें क्योंकि उन वायर में भी इलेक्ट्रिक शॉक की संभावना होती है. 

अगर आप उसे भी अगर कोई बड़ी Machine पर करते हैं और उस Machine में Rotating पार्ट है यानी बड़े-बड़े विल है अगर वह भी आपके काम के दौरान आप के आजू-बाजू में है तो आप उन्हें छूने का प्रयास नहीं करना है क्योंकि वह अगर आपके हाथ को एक बार Machine में दबा लेंगे तो आपका हाथ कट सकता है या आप को गंभीर चोट आ सकती है इसलिए आपको कभी भी Rotating पार्ट्स को ज्यादा छेड़खानी नहीं करनी चाहिए . 

अगर आप के कपड़ो को Oil लगा है तो उन कपड़ों को आपको अलग रखना है क्योंकि और यह एक बिजली का अच्छा इंसुलेटर है इसलिए आपके कपड़े अगर ऑइल के संपर्क में आते हैं तो आप इन्हें दूर ही रखें. 

बड़ी-बड़ी Machine में कहीं पर hydrolic प्रेशर लुब्रिकेशन Oil और इन लीकेज नहीं होना चाहिए अगर इनमें से कोई भी चीज लिख हो रही है तो आपको उसे सबसे पहले ठीक करना होगा नहीं तो यह एक गंभीर समस्या बन सकती है. 

 इसलिए इन चीजों का आपको सबसे पहले ध्यान रखना चाहिए नहीं तो यह आपके हेल्थ पर बहुत बुरा असर डालते हैं. और अगर आप कोई Machine में इंटर पास करना चाहते तो आप उसे सेफ्टी बायपास के बिना बिल्कुल भी ना करें क्योंकि यह बायपास बहुत खतरनाक होते हैं अगर आप इन बायपास के साथ छेड़खानी करते तो आप पर बहुत बड़ी मुसीबत आ सकती है. 

OCP कैसे करें? 

आपको अगर OCP करनी है तो मैंने आपको नीचे सारे पॉइंट बताएं उन पॉइंट को पढ़कर आपको सीपी एकदम आसानी से कर सकते हो. 

  • सीएनसी Machine के सर्वो system या कोई Machine का भाग इलेक्ट्रिक की एनर्जी को स्टोर रखता है यानी उसके अंदर हाई वोल्टेज इलेक्ट्रिसिटी है और उसमें कैपेसिटी लगे हैं तो उन्हें मेन सप्लाई बंद करने से पहले आधे घंटे बंद करें ताकि वह पूरी तरीके से डिस्चार्ज हो जाए और तभी आप उन Machineों पर OCP चालू करें. 

  • Machine के प्रिंटिंग मेंटेनेंस का ध्यान रखिए क्योंकि अगर आप company में कोई नई Machine लाते तो उस Machine की गारंटी होती है अगर वह Machine उस गारंटी के समय से कवर हो चुकी है और उस Machine का मेंटेनेंस का समय आया है तो आपको यह चेक करना चाहिए क्योंकि हर एक Machine का कोई ना कोई मेंटेनेंस का समय होता है इसलिए आपको यह भी चेक करना चाहिए . 

  •  कास्टिंग के hydrolic pipes खोलने से पहले Machine में जो नाइट्रोजन वैल्यू होती है उस वैल्यू को आपको एक बार चेक करके देख लेना है वह नाइट्रोजन वह लो अगर ज्यादा है तो आपको उस नाइट्रोजन वाले को बंद कर देना है और उस डाई कास्टिंग Machine और hydrolic pipes में जो प्रेशर है वह सारा प्रेशर आपको रिलीज कर देना है ताकि वह hydrolic pipes आपको कोई नुकसान ना पहुंचा सके. 

इस तरीके से आपको OCP एकदम आसानी से कर सकते हैं अगर आप किसी भी company में उसी पर करना चाहते हैं तो इस सभी चीजों का आपको जरूर ध्यान रखना चाहिए यह चीजें आपको उसी भी करने में बहुत ज्यादा मदद करेगी. 

OCP के कुछ और अन्य महत्वपूर्ण फुल फॉर्म

ORACLE CERTIFIED PROFESSIONAL

OCP का यह भी एक  महत्वपूर्ण फुल फॉर्म है. यह एक एंटोंमोलॉजिकल एसोसिएशन ऑफ अमेरिका नामक कीट नियंत्रण उद्योग के लिए एक नया व्यवसायिक कार्यक्रम का निर्माण किया गया.

इस कार्यक्रम के मानचित्रण करने के लिए एक खाका और कल प्रमाणन कार्यक्रम एक पेशेवर प्रमाणन प्रोग्राम और कल डेटाबेस के प्रशासन को अपने मुख्य आधुनिक समाज के अंदर सबसे साधारण प्रकार के प्रोफेशनलिज्म सर्टिफिकेशन करना था. 

जिसमें व्यक्ति को आमतौर पर कौन सी भी नौकरी का कार्य संभाल पूर्वक देने की जिम्मेदारी थी औरकल सर्टिफाइड प्रोफेशनल इसका निर्माण किया गया था. 

OPERATION PROCESS CHART 

ऑपरेशन प्रोसेस चार्ट यह OCP का बहुत महत्वपूर्ण फुल फॉर्म है यह एक चार्ट होता है जिसमें सेफ वर्क यानी पूरे वर्क की जानकारी होती है कि इस वर्ग में सभी काम किस प्रकार से होने वाली है.

और कौन कौन से काम किस समय पर होते हैं और इस काम की पूरी जानकारी इस चार्ट में होती है इस चार्ट हिसाब से उसी की जाती है. 

OPERATION CONTROL SYSTEM

ऑपरेशन कंट्रोल system यह OCP का फुल फॉर्म है. यह एक कंट्रोल system होता है जिसके अंदर ऑपरेशन कंट्रोल का यह महत्व होता है कि यह ऑपरेशन आपके इवेंट्स पर फोकस करता है जिसे अगर आपकी इवेंट्स होते हैं. 

उन इवेंट्स को यह ऑपरेशन कंट्रोल करता है और इवेंट्स में आपको क्या क्या करना है यह सभी इस system में आता है जो हमारी मैनेजमेंट कंट्रोल system होती है. 

उसी system में हमारी ऑपरेशन कंट्रोल system आती है ऑपरेशन कंट्रोल system फोकस ऑन एलिवेशन एंड यूज ऑफ ऑर्गेनाइजेशन रिसोर्स ऑर्गेनाइजेशन इन चीजों पर ज्यादा फोकस करता है. 

ताकि हमारी यह चीजें बहुत बढ़िया तरीके से हो अगर आपके एंप्लॉय के अंदर मोटिवेशन की कमी है तो ऑपरेशन में आपकी एम्पलाई के मोटिवेशन को बढ़ाया जाता है और इससे आपकी company को बहुत ज्यादा फायदा हो सकता है. 

ऑपरेशन कंट्रोल यह एक ऐसी पावर है जिसके जरिए ऑर्गनाइजेशन तो जिस फंक्शन को हम कंट्रोल कर सकते हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.