WHO ka FULL FORM IN HINDI – WHO KA FULL FORM KYA HAI | WHO KYA HAI ?

WHO KA FULL FORM KYA HAI | WHO KYA HAI ?

FULL FORM OF WHO – अगर आपको WHO का full form जानना है और आपको WHO के बारे में और भी जानकारी चाहिए तो आपको मैंने इस पोस्ट में डब्लू एच ओ का फुल फॉर्म ऑफ WHO के बारे में और भी कई अन्य जानकारी एकदम सरल भाषा में आपको दिए हुए हैं उन सभी जानकारी को आप पढ़ कर अपना  ज्ञान बढ़ा सकते हैं.

WHO यह एक स्वास्थ्य से जुड़ा ORGANIZATION है जिसकी स्थापना 7 अप्रैल 1948 मैं कई गई थी. इसी वजह से आज भी विश्व स्वास्थ्य दिवस 7 अप्रैल को मनाया जाता है ताकि इस संघटना को संबोधित किया जाए .WHO स्वास्थ्य की लिए यूनाइटेड नेशन की स्पेशल एजेंसी इसके साथ-साथ यह पूरे विश्व की एक Health ORGANIZATION है.

जो अपने साथ जुड़े देशों के Health मिनिस्ट्री के साथ काम करके उन देशों की Health के संघटना को सहायता करती है इसे डब्लू एच ओ का हेड ऑफिस स्विट्जरलैंड में है WHO दुनिया में Health के मामले में लीडरशिप देने से लेकर रूस और स्टैंडर्ड तय करने देशों को टेक्निकल सपोर्ट प्रोवाइड करने तक का काम करता है.

 

WHO FULL FORM

इस संघटना का मुख्य हेतु सभी लोगों को स्वास्थ्य का एक उत्तम दर्जे का स्तर प्राप्त हो यह है.

WHO FULL FORM IN HINDI 

डब्लू एच ओ का फुल फॉर्म है विश्व स्वास्थ्य ORGANIZATION यह विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य ORGANIZATION है इसे हिंदी में यह कहा जाता है और इसका शार्ट फॉर्म WHO यह है.

WHO FULL FORM IN ENGLISH

WORD HEALTH ORGANIZATION यह डब्लू एच ओ का फुल फॉर्म इंग्लिश में है इसे ही WHO कहा जाता है.

डब्लू एच ओ क्या है? 

W.h.o. एक अमेरिकी स्वास्थ्य ORGANIZATION है  जो अब पूरे दुनिया में जो देश इन संस्था से जुड़े हैं.इस Word Health ORGANIZATION के डायरेक्टर जनरल बने हैं इथोपिया के Dr. Tredos Adhenon यह है और इस संघटना के डिप्टी डायरेक्टर जनरल Dr. Soumya swaminatjan यह है यह भारत की पहिली भारतीय महिला जो WHO की यह पद पर है .

उन सभी देशों में स्वास्थ्य संबंधी और स्वास्थ्य के बारे में नियम और नए नए Research करने में देशों को सहायक करती है और यह एक विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य ORGANIZATION है.

WHO मैटरनल न्यू मोबाइल और टीम Health एपी कंट्रोल और दूसरे रोग और Health के सोशल डिटरमिनेट और Health प्रोटेक्शन फॉर एवरी सिचुएशन पर काम करता है WHO की नजर पूरी दुनिया के Health पैनल हॉस्पिटल पर रहती है इसके पास दुनिया का सबसे बड़ा ब्लड बैंक है.

दुनिया की कई बीमारियां जैसे मलेरिया कोरोना वायरस जैसी बीमारियों को रोकने के लिए WHO अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है जो अब तक 10 बीमारियों की पहचान कर चुका है जिनमें कैंसर टयूमर डिटेक्शन मलेरिया वायरस जैसी बीमारियों को रोकने के लिए WHO अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है. 

WHO में दुनिया भर के अन्य कई देश शामिल है 2016 में WHO में 194 देश शामिल हुए थे ज्ञानी WHO के सदस्य हुए थे उनमें हमारा भारत देश डब्लू एच ओ का सदस्य बना था तब से हमारा भारत देश आज तक WHO का एक सदस्य देश है और WHO में जो लोग भर्ती होते हैं.

उनको किसी भी तरह का व्यसन नहीं रहना चाहिए जिसे दारु सिगरेट क्योंकि WHO तंबाकू मुक्ति को प्रोत्साहन देती है इसीलिए और भारत में WHO का ऑफिस दिल्ली में स्थित है भारत में जो भी आरोग्य विषयक सूचनाएं होती है.

वह सारे WHO के सहायक से होती है इसीलिए भारत WHO पर आरोग्य के लिए बहुत निर्भर है और WHO को भारत की वजह से आरोग्य संबंधी नई-नई जानकारी प्राप्त करने में आसानी होती है क्योंकि भारत में बहुत ज्यादा वैज्ञानिक है.

 WHO अब तक 10 जानलेवा बीमारियों की पहचान कर चुका है जिससे कैंसर से रिलीव वैस्कुलर डिजीज इस जैसे आठ अन्य बीमारियों को WHO ने रोकने में बहुत बड़ा काम किया है और लोगों के अंदर जागरूकता फैलाई है.

WHO की स्थापना क्यों की गई?

WHO की स्थापना करने के उद्देश्य यह है कि विश्व भर में जो लोग हैं उन लोगों के स्वास्थ्य को एक अच्छा दर्जा देना यह है और जब w.h.o. स्थापन होने से पहले जगबीर में कुछ लोग बहुत तेजी से फैल रहे थे.

उनके बारे में लोगों में जागरूकता नहीं थी जैसे पीलाहेज, बुखार,मलेरिया,पोलियो,हेजा और HIV इस तरीके के भयंकर बीमारियों के बारे में सबसे पहले विश्व स्वास्थ्य ORGANIZATION ने पूरे विश्व भर में विज्ञापन के द्वारे लोगों के बीच जागरूकता फैलाई.

WHO कहां FUND से मिलता है? 

WHO की फंडिंग का सबसे बड़ा जरिया है अमेरिका. अमेरिका सबसे ज्यादा मदद करता है WHO को करता है WHO नहीं 2019-2023 के लिए 14.14 बिलियन अमेरिकी डॉलर इन्वेस्ट करने का गोल रखा है.

ताकि यह संघटना बहुत बड़ी मात्रा में स्वास्थ्य के ऊपर Research कर सके WHO का कहना यह है कि यह वह अमाउंट है जो अगले 5 साल तक WHO को काम करने में बहुत ज्यादा मदद करेगा और उसके साथ साथ और उसके एंबिशियस और ट्रिपल बिलियन गोल पर देने की जरूरत है.

यह WHO का कहना है और इनका कहना यह है कि इनकी पहुंच एक अरब से भी ज्यादा लोगों तक है यानी WHO इतने सारे लोगों की स्वास्थ्य का ख्याल रखेगा इसीलिए उन्हें ट्रिपल बिलियन निवेश की जरूरत है. 

WHO को सिर्फ अमेरिका ही फंड नहीं करती WHO को उसके साथ जो 193 दिल्ली से जो WHO उन देशों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी और नियम बना कर देती है वह सारे देश इस WHO को फंड देते हैं.

और यह सारे देश इस ORGANIZATION को बिलियन में फंड देते हैं और यह फंड WHO को काम करने के लिए जो रिसर्च पर खर्च आता है वह सारा खर्च इन सभी फंडों से होता है और ऐसे Word Health ORGANIZATION पूरे जग भर में स्वास्थ्य के बारे में लोगों में जागरूकता फैला रही है.क्

विश्व स्वास्थ्य ORGANIZATION पूरी दुनिया की Health को मॉनिटर करती है नहीं बीमारियों की खोज करती है और उनके लिए इलाज तैयार करती है साथ में उनके लिए गाइडलाइंस भी बनाती है.और उनके एक गाइडलाइन भी प्रोवाइड करती है जिसके वजह से सारा हमारा वर्ड उस बीमारी को लड़ने के लिए तैयार हो जाता है.

WHO क्या-क्या करता है? 

WHO का प्राथमिक कार्य है कि स्वास्थ्य प्रणाली में सुधार और इसके साथ-साथ संचारी रोग और गैर संचारी रोग इन पर भी यह संघटना Research करती है क्योंकि यह पता लगाना बहुत आवश्यक होता है.कि कौन सा रोग संचारी है और कौन सा रोग गैर संचारी रोग है.

जिसे हम संसर्गजन्य रोग कहते हैं. WHO जो जो भी Research करता है वह सारा Research अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर उन रिसर्च के रिपोर्ट और रिसर्च के बारे में अन्य जानकारी अपनी वेबसाइट पर अपलोड करता है WHO की यह ऑफिशियल वेबसाइट WHO | World Health Organization है.

जो संसर्गजन्य रोग होते हैं वह लोग सबसे खतरनाक होते हैंक्योंकि यह रोबो तेजी से खेलते हैं अगर यह रोग जानलेवा साबित हो गए तो बहुत मात्रा में लोगों के स्वास्थ्य पर असर हो सकता है. 

इसीलिए WHO प्राथमिक स्तर पर यह Research करता है.WHO बाकी सारे देशों को जो देश WHO के साथ काम करते हैं उनको कॉरपोरेट सेवा भी वह भी यह प्रदान करता है. जो अलग-अलग देशों में WHO के कुछ कार्यक्रम और सर्वे होते हैं उन सभी को प्रोग्राम को WHO सर्विलेंस और रिस्पांस करता है. यह WHO के बारे में जानकारी अगर आपको अच्छी लगी है तो आप हमारे और भी अन्य पोस्ट पढ़ सकते हैं उनमें भी हमने कुछ इस तरीके की बहुत अच्छी तरीके से सभी विषय पर जानकारी दी है.

Leave a Comment